img

करेंट प्लस जमा योजना

“करेंट प्लस” जमा योजना ग्राहकों को एक साथ चालू खाते और सावधि जमा खाते के लाभ की अनुमति देता है।

योजना:

‘करेंट प्लस’ खाता (सीपी) योजना में दो घटक शामिल होंगे अर्थात् चालू खाता और सावधि जमा खाता। चालू खाते में रु.1.00 लाख का न्यूानतम शेष बनाये रखना अपेक्षित है और रु.1.00 लाख से अधिक राशि स्वूत: 15 दिनों की अवधि हेतु रु.10000.00 के गुणकों में सावधि जमा खाते में अंतरित हो जाएगी।

खाता खोलने का फॉर्म

खाता खोलते समय बैंक के दिशानिर्देशों के अनुसार समुचित परिचय प्राप्तह करके सामान्य चालू खाता खोलने के फार्म/नमूना हस्तांक्षर कार्ड आदि को प्रयोग किया जाएगा। इसके अतिरिक्त‍ जमाकर्ता से एक पृथक वचनपत्र प्राप्त/ करना अपेक्षित है। ‘करेंट प्लस’ खाता हेतु मीयादी जमा खाते के लिए कोई पृथक आवेदन फॉर्म अपेक्षित नहीं है और सावधि जमा राशि हेतु कोई रसीद जारी नहीं की जानी है।

निधि का सावधि जमा में स्वत: अंतरण और सावधि जमा की अवधि:

योजना में रु.100000/- से अधिक शेष का चालू खाते से सावधि जमा खाते में स्वतत: अंतरण और विलोमत: की सुविधा उपलब्ध- होगी। रु.100000/- के न्यूबनतम शेष से अधिक राशि स्वत: 15 दिनों की अवधि हेतु रु.10000.00 के गुणकों में सावधि जमा खाते में अंतरित हो जाएगी जिसमें हर 15 दिनों के बाद शेष के स्वजत: नवीकरण का प्रावधान होगा। सावधि जमा खाते में उपचित ब्यााज, नवीकरण के समय चालू खाते में जमा किया जाएगा।

रिवर्स स्वीेप की प्रक्रिया:

चालू खाते में उपलब्ध शेष को पार्टी द्वारा चेक को सकारने हेतु सावधि जमा खाते के शेष को रु.10000 के गुणकों में चालू खाते में स्वेत: अंतरित करते हुए चालू खाते और सावधि खाते का संयुक्त शेष माना जाएगा। सावधि जमा का रिवर्स स्वीेप “लास्ट इन फर्स्टि आउट” आधार पर होगा।

कोई भी व्यीक्ति जो बैंक में चालू जमा खाता खोलने का पात्र है वह एकल अथवा संयुक्तस रूप से रु.100000/- के न्यूनतम शेष के साथ करंट प्लास (सीपी) खाता खोलने का पात्र है। मौजूदर चालू जमा खातों को भी नयी जमा योजना में संपरिवर्तित किया जा सकता है बशर्ते वह प्रतिदिन रु.100000/- का न्यूंनतम शेष बनाए रखने का वचन दे।

लेजर फोलियो प्रभार:

चालू खातों के मामलों में निम्नजलिखित अपवादों सहित प्रतिवर्ष लेजर फोलियो प्रभार रु.70/- फोलियो है ( लेजर पृष्ठो के एक तरफ लगभग 40 प्रविष्टियां)। तथापि, ये प्रासंगिक प्रभार रक्षा कार्मिकों/यूनिटों आदि के नाम वाले चालू खातों पर नहीं वसूले जाएँगे। अतिरिक्ता जानकारी के लिए इलाहाबाद बैंक की निकटतम शाखा से संपर्क करें।

ब्यािज का भुगतान:

सावधि जमा खाते में शेष पर समय-समय पर 15 दिनों की एफडीआर पर यथाप्रयोज्य दर से ब्याीज का भुगतान किया जाएगा। सावधि जमा खाते में शेष पर 15 दिनों से कम अवधि हेतु ब्याोज का भुगतान नहीं किया जाएगा।

स्रोत पर आय कर और सेवा कर की कटौती:

योजना के अंतर्गत सावधि जमा के ब्याज घटक पर आय कर और सेवा कर (यथाप्रयोज्य) की कटौती बैंक द्वारा समय-समय पर जारी अनुदेशों के अनुसार की जाएगी और बैंक जमाकर्ता को टीडीएस प्रमाणपत्र जारी करेगा।

सावधि जमा का परिपक्व तापूर्ण आह रण:

करंट प्लोस खाते में सावधि जमा के परिपक्वआतापूर्ण आहरण पर कोई दांडिक ब्या्ज नहीं लगाया जाएगा भले ही योजना के अंतर्गत राशि जो भी हो।