उत्पाद

मीयादी जमा (फिक्सड डिपॉज़िट)


यह मीयादी जमा है जो जमा करते वक्त निर्धारित तय अवधि के उपरांत भुगतान योग्य है। इसमें निर्धारित अवधि हेतु जमा एवं सूचना देकर धन निकासी हेतु जमा दोनों शामिल हैं।


डबल डिपॉज़िट प्लान


डबल डिपॉज़िट प्लान (डीडीपी) मीयादी (फिक्सड) जमा योजना एवं आवर्ती (रिकरिंग) जमा योजना दोनों का मिश्रण है। मीयादी जमा पर देय ब्याज तिमाही अंतराल पर चक्रवृद्धि रूप से दिया जाता है, इसे निर्धारित अवधि के अंत में सिर्फ मूलधन के साथ भुगतान किया जाता है।


मासिक आय योजना


इस योजना के तहत धन का निवेश किया जाता है एवं जमाकर्ता को निर्धारित अवधी हेतु मूल धनराशि को छोड़कर ब्याज के रूप में निश्चित मासिक आय प्रदान किया जाता है। यह योजना विशेषकर उन सेवामुक्त लोगों को आकर्षित करेगी जो पेंसन प्राप्त नहीं करते हैं।


शिशु मंगल जमा योजना


इस योजना का उद्देश्य बच्चों का कल्याण है। समय-समय पर चार्ट द्वारा मुहैया कराये गये पूर्व निर्धारित धनराशि जमा करना पड़ता है जिसमें रुपये 5000/- तक की वृद्धि होगी अथवा 6 वर्ष की समाप्ति पर इसका मल्टीपल होगा, यह जमाकर्ता द्वारा चयनित ऑपशन पर निर्भर है। मगर, बच्चे के 21 वर्ष की आयु होने पर कोई डिपॉज़िट जारी नहीं रखा जाएगा।


फ्लेक्सी फिक्स्ड डिपॉज़िट


यह योजना बिना चलनिधि को खोये अधिकतम रिटर्न प्रदान करती है। यह रनिंग खाता है जिसमें सामान्य अथवा चक्रवृद्धि ब्याज की विभिन्न इकाइयाँ शामिल है जो क्रमशः मीयादी जमा खातों जैसे नॉर्मल फिक्स्ड डिपॉज़िट या डबल फिक्स्ड डिपॉज़िट प्लान को आकर्षित करता है।


कर लाभ हेतु मीयादी जमा


इलाहाबाद बैंक का कर लाभ मीयादी जमा योजना जमाकर्ताओं (आयकर आकलन) को आयकर अधिनियम के अनुच्छेद 80सी के तहत लाभ प्रदान करता है। संबंधित वर्ष के 1 अप्रैल से एक लाख रुपये से कम की राशि से शुरूआत की जा सकती है। जो धनराशि जमा की जाएगी वह न्यूनतम रुपये एक सौ या उससे अधिक की होनी चाहिए।


आवर्ती जमा (रिकरिंग डिपोज़िट)


आवर्ती जमा उस प्रकार का जमा है जिसमें जमाकर्ता निर्धारित अवधि तक प्रत्येक महीने अपने खाते में निश्चित तय राशि का भुगतान करता है।


ऑलबैंक मंथली प्लस


परिवर्ती आवर्ती जमा उस प्रकार का जमा है जिसमें जमाकर्ता को अपने फंड की उपलब्धता के आधार पर अपनी सुविधानुसार अपनी किस्त के भुगतान का विकल्प लेता है।


एमएसीटी एवं एमएसीआरडी खाता


कोर्ट/ट्रिब्यूनल द्वारा निर्णित सड़क दुर्घटनाओं में पीड़ितों के लिए क्षतिपूर्ति की अदायगी हेतु यह विशेष जमा उत्पाद है ताकि चरणबद्ध तरीके से दावेदार/रों को दावा ट्रिब्यूनल द्वारा उक्त क्षतिपूर्ति राशि की अदायगी की जा सके।