डिपॉज़िटरी सेवाएं

<

डिपाजिटरी पार्टिसिपेंट (डीमेट सेवाएं):

निवेशकों के ध्यानार्थ

अपने डीमेट खाते में अनधिकृत लेनदेनों को रोकें -> अपने डिपाजिटरी पाटिसिपेंट के साथ अपने मोबाइल नंबर को अपडेट करें। उसी दिन एनएसडीएल से सीधे अपने डीमेट खाते में सभी डेबिट तथा अन्य महत्व पूर्ण लेनदेनों हेतु अपने रजिस्टर्ड मोबाइल पर अलर्ट प्राप्त करें.............निवेशकों के हित में जारी। प्रतिभूति बाजार में लेनदेन के समय केवाईसी एकबारगी प्रक्रिया है- सेबी पंजीकृत मध्यस्थ (ब्रोकर, डीपी, म्यूचुअल फंड आदि) के माध्यम से केवाईसी होने पर किसी अन्यथ मध्यस्थ से संपर्क करने पर आपको यह प्रक्रिया दुबारा करने की आवश्यकता नहीं है।

client1 client1 client1

डिपाजिटरी पार्टिसिपेंट (डीमेट सेवाएं) :

डिपाजिटरी सेवा प्रतिभूतियों (स्टॉक एक्सचेंजों में ट्रेड योग्य) को इलेक्ट्रॉनिक रूप में धारण करने की सुविधा है और लेनदेन केवल बही प्रविष्टि से प्रोसेस होते हैं। इस व्यवस्थां के अंतर्गत डिपाजिटरी जारीकर्ता कंपनियों की बहियों में इलेक्ट्रॉनिक रूप में प्रतिभूतियों के पंजीकृत स्वामी के रूप में कार्य करता है और क्लाइंट लाभार्थ स्वामी होता है। जिस डिपाजिटरी पार्टिसिपेंट के माध्यम से डीमेट खाते परिचालित किए जाते हैं वह डिपाजिटरी के एजेंट के रूप में कार्य करता है। नेशनल सिक्योरिटीज डिपाजिटरी लि. (एनएसडीएल) और सेन्ट्रल सिक्योरिटीज डिपाजिटरी (इंडिया) लि. (सीडीएसएल) भारत में दो मान्यता प्राप्त डिपाजिटरी हैं।

इलाहाबाद बैंक प्रमुख डिपाजिटरी नेशनल सिक्योबरिटीज डिपाजिटरी लि. (एनएसडीएल) से संबद्ध खुद के सर्वर के साथ कोलकाता से डिपाजिटरी पार्टिसिपेंट सेवाएं आरंभ करने वाला पूर्वी भारत का प्रथम राष्ट्रीयकृत बैंक था। बैंक अब एनएसडीएल और सीडीएसएल दोनों के माध्य‍म से डिपाजिटरी सेवाएं प्रदान कर रहा है । बैंक अब एनएसडीएल और सीडीएसएल दोनों के माध्यम से डिपाजिटरी सेवाएं प्रदान कर रहा है।

बैंक 10 केन्द्रों अर्थात नई दिल्ली, कोलकाता, मुम्बई, चेन्नै, अहमदाबाद, सूरत, नागपुर, लखनऊ, कानपुर और वाराणसी में डिपाजिटरी सेवाएं प्रदान कर रहा है।

जिन केन्द्रों /शाखाओं के माध्याम से डिपाजिटरी सेवाएं प्रदान की जा रही हैं वे निम्नानुसार है:-


मद

विवरण

लक्ष्य खंड

सभी खुदरा व्यक्तिगत निवेशक।

पात्रता

सभी व्यक्ति जिनका केवल एक डीमेट खाता है अथवा प्रस्तावित है जहां वे एकल/प्रथम धारक हैं। वे व्यक्ति जिनका कोई अन्य डीमेट खाता हैं जहां वह एकल/प्रथम धारक नहीं हैं, वे भी बुनियादी सेवा डीमेट खाता (बीएसडीए) के अंतर्गत सेवा प्राप्त करने के पात्र हैं। व्यक्ति का सभी डिपाजिटरियों में केवल एक बीएसडीए खाता होगा। डीमेट खाते में रखी गई प्रतिभूतियों का मूल्य किसी भी समय में रुपए 2 लाख से अधिक नहीं होना चाहिए।

वार्षिक अनुरक्षण प्रभार

रु.50,000/- तक होल्डिंग

शून्य वार्षिक अनुरक्षण प्रभार (एएमसी)

रु.50,000/- से रु.2 लाख के बीच होल्डिंग

रु.100/- वार्षिक अनुरक्षण प्रभार वसूल किया जाएगा।

रु.2 लाख से अधिक होल्डिंग

नियमित डीपी खाते के अनुसार प्रभार वसूल किया जाएगा।

हर बिलिंग चक्र की समाप्ति पर डीपी लाभार्थ स्वामी (बीओ) की पात्रता का पुनर्निर्धारण करेगा और इस सुविधा का लाभ उठाने हेतु बीओ को विकल्प देगा।

विवरण हेतु प्रभार

इलेक्ट्रानिक विवरण निःशुल्क प्रदान किया जाएगा।
भौतिक विवरण के मामले में डीपी कम से कम 2 विवरण निःशुल्क प्रदान करेगा। अतिरिक्त डीपी विवरण हेतु डीपी प्रति विवरण रु.25/- प्रभारित करेगा।

अन्य

डीपी खाता खोलते समय डीपी 2 डिलीवरी अनुदेश पर्ची जारी करेगा।

डीपी सेवा प्रभार – लाभार्थी खातों हेतु

विवरण

ग्राहक

बैंक कर्मचारी/सेवानिवृत्त कर्मचारी

खाता खोलने/खाता बंद करने/अभिरक्षा प्रभार

शून्य

डिमेटिरियलाइजेशन प्रभार

इक्विटी शेयर

रु.3/- प्रति प्रमाणपत्र, न्यूनतम रु.25 + मेलिंग प्रभार ( इलाहाबाद बैंक शेयर हेतु निःशुल्क)

बॉण्ड / डिबेंचर/ जी-प्रतिभूति /सीपी

रु.50/- प्रति अनुरोध + मेलिंग प्रभार

रिमेटिरियलाइजेशन प्रभार

रु.25/- प्रति प्रमाणपत्र एनएसडीएल हेतु अधिकतम 100 शेयर प्रति प्रमाणत्र के अध्यिधीन।

रु.100/- प्रति प्रमाणपत्र सीडीएसएल हेतु अधिकतम 100 शेयर प्रति प्रमाणत्र के अध्यिधीन।

वार्षिक अनुरक्षण प्रभार

प्रथम वर्ष हेतु सभी के लिए

शून्य

द्वितीय वर्ष से आगे

 

व्यिक्तियों हेतु

रु.300/- प्र.व. (अप फ्रंट)

रु.150/- प्र.व. (अप फ्रंट))

गैर व्यक्तियों हेतु

रु.500/- प्र.व. (अप फ्रंट) एनएसडीएल हेतु

रु.1000/- प्र.व. (अप फ्रंट) सीडीएसएल हेतु

लेनदेन शुल्क: (प्रति लेनदेन) (इक्विटी/बॉण्ड/डिबेंचर/जी-सेक)

-मार्केट/ऑफ मार्केट लेनदेन (क्रय))

शून्य

-मार्केट/ऑफ मार्केट लेनदेन (विक्रय)

रु.1 लाख तक रु..25/- + सेवा कर।
प्रत्येक रु.50000/- हेतु रु.5 + सेवा कर.

लेनदेन शुल्क: (प्रति लेनदेन) (वाणिज्यिक पत्र)

-मार्केट/ऑफ मार्केट लेनदेन (क्रय))

शून्य

-मार्केट/ऑफ मार्केट लेनदेन (विक्रय)

रु.1000/- + सेवा कर

गिरवी

सृजन

रु.100/- + सेवा कर

बंदी / इन्वोकेशन

रु.50/-+ सेवा कर

विविध प्रभार

प्रलेखन शुल्क (खाता खोलने के दौरान)

शून्य

डिलीवरी अनुदेश पुस्तक

रु.1 प्रति फोलियो

अतिरिक्त. विवरण

रु.25/- प्रति विवरण

अनुदेश विफलता प्रभार

रु.50/- प्रति डिलीवरी अनुदेश

क्लाइंट के जोखिम पर प्राप्त अनुदेश ***

रु.50/- प्रति अनुदेश

मेलिंग प्रभार और फुटकर व्यय

वास्तविक

सेवा कर

सरकार द्वारा समय-समय पर लिए गए निर्णय के अनुसार।

नोट :

  • क. अभिरक्षा प्रभार प्रत्येक वित्तीय वर्ष के अंत में वसूल किया जाएगा। कोई न्यूनतम या अधिकतम प्रभार प्रयोज्य नहीं है।
  • ख. प्रभारों की कटौती डिपाजिटरी खाताधारक के बचत/चालू खाते से की जाएगी।
  • ग. सभी प्रभार डीपी द्वारा लिए गए निर्णय के अनुसार संशोधन के अध्यधीन हैं।
  • घ. 14.00 बजे के बाद उसी दिन प्राप्तद क्लाइंट के जोखिम पर माने गए अंतर-डिपाजिटारी अनुदेश। उसी दिन 10.00 बजे से पहले निष्पादित करने के साथ ऑफ मार्केट अनुदेश। पिछले दिन के पे-इन सीमा हेतु 16.00 बजे के बाद प्रस्तुत अनुदेश।.
  • ङ. डाक और अन्य फुटकर व्यय वास्तविक आधार पर वसूल किए जाएंगे जो सेवा प्रभार के अतिरिक्त होंगे।
  • च. 'सेवा कर परिपत्रित अनुदेश के अनुसार अलग से वसूला जाएगा।
  • छ. बुनियादी सेवा डीमेट खाता: - यदि डीमेट खाते में स्टॉक का मूल्य रु.2 लाख को पार कर जाता है तो नियमित डीपी खातों के अनुसार प्रभार वसूल किया जाएगा।

लाभार्थ स्वामी और डिपाजिटरी पार्टिसिपेंट के अधिकार और बाध्यंताएं

डीमेट ग्राहकों की शिकायतों का निवारण

आप अपनी शिकायत सेबी के पास http://scores.gov.in पर भी दर्ज कर सकते हैं। किसी प्रकार की शंकाओं, फीडबैक अथवा सहायता हेतु कृपया सेबी कार्यालय में टॉल फ्री हेल्प लाइन 1800 227575/1800 2667575 पर संपर्क करें।