वित्तीय समावेशन

  • ग्रामीण एवं शहरी दोनों बैंक रहित क्षेत्रों में विभिन्न तरीके जैसे; शाखाएँ खोलना, व्यवसाय प्रतिनिधि मॉडल, बायोमेट्रिक एटीएम लगाकर, मोबाइल बैंकिंग वैन इत्यादि माध्यमों से बैंकिंग की पहुँच बढ़ाना ही वित्तीय समावेशन है।
  • इसमें विशेषकर विस्तृत वंचित/निम्न आय समूह को सस्ते दर पर प्रधानमंत्री जनधन योजना (पीएमजेडीवाई), जमा, ऋण, धन प्रेषण, माइक्रो इंश्योरेंस, माइक्रो पेंशन एवं निवेश उत्पाद खाता खोलने सहित वित्तीय सेवाओं की डिलिवरी शामिल है।
  • मिशन मोड में समावेशी विकास प्राप्त करने के बुनियादी उद्देश्य सहित, भारत सरकार ने 28.08.2014 को नयी विस्तृत एवं समग्र योजना शुरूआत की जिसका नाम “प्रधानमंत्री जन-धन योजना (पीएमजेडीवाई)” है। .
  • 4580 एसएसए एवं 1210 नगर वार्डों में किये परिवार सर्वेक्षण के आधार पर हमारे बैंक ने 31.12.2014 की रिकॉर्ड समय-सीमा के अंतर्गत सभी घरों को शामिल किया था।
  • आदरणीय प्रधानमंत्री द्वारा कोलकाता में पीएमजेडीवाई के शुभारंभ कार्यक्रम का आयोजन हमारे बैंक ने ही किया था।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकिंग सेवाएँ मुहैया करवाने हेतु हमारे बैंक को आबंटित एसएसए को कवर करने के लिए कुल 4355 बैंक मित्रों को तैनात किया गया है।
  • 708 नगर केंद्र हैं जिनमें बैंक मित्र को तैनात किया गया है।
  • 31.03.2017 तक पीएमजेडीवाई के तहत कुल 65.95 लाख खातें खोले गये हैं, 21.71 लाख बचत बैंक खाता की वृद्धि (व-द-व 49.07% वृद्धि) ।
  • 31.03.2017 तक पीएमजेडीवाई के तहत कुल जमाराशि रु. 1219.39 करोड़ जुटाये गये हैं। व-द-व वृद्धि 164.44% है।
  • दिनांक 31.03.2017 तक तीन सामाजिक सुरक्षा योजनाओं अर्थात् प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (पीएमजेजेबीवाई), प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (पीएमएसबीवाई) तथा अटल पेंशन योजना के तहत कुल कवरेज रु. 28.43 लाख है।
  • 31.03.2017 तक पीएमजेजेबीवाई एवं पीएमएसबीवाई के तहत क्रमश: 1407 तथा 271 दावों का निपटारा किया गया है। पीएमजेजेबीवाई एवं पीएमएसबीवाई हेतु हमारे बैंक के भुगतान किये गये दावों का अनुपात क्रमश: 98.08% एवं 91.22% है।
  • समस्त किओस्क स्थानों पर ई-केवाईसी की सुविधा मुहैया करायी गयी है जिसे बैंक मित्र इन खातों में आधार एवं मोबाइल नंबर सीडिंग के ऑटो पॉपुलेशन हेतु बैंक मित्र संचालित करते हैं।
  • रुपे कार्ड ऑपरेशन (माइक्रो एटीएम कार्यक्षमता) की सुविधा चालू की गयी है एवं इसे बैंक मित्र केंद्रों पर घरेलू रुपे कार्ड के इस्तेमाल के द्वारा डिजिटल प्रेरक के पक्ष के रूप में प्रोत्साहित किया जा रहा है।
  • मार्च 2017 को समाप्त वर्ष के दौरान हुए अतिरिक्त एईपीएस लेनदेनों की संख्या 111.22 लाख है जिसमें 31.03.2017 तक का संचयी आँकड़ा 143.73 लाख लेनदेन भी शामिल है। वर्ष 2016-17 के दौरान एईपीएस लेनदेन में 342.11% की वृद्धि हुई है।
  • पीएमजेडीवाई सक्रिय खाता में आधार सीडिंग का प्रतिशत 83.07 है तथा 77.80% खातों को रुपे कार्ड जारी किया गया है।
  • 58127 ग्राहकों को एसबीओडी सुविधा की मंज़ूरी दी गयी है जिसमें 31.03.2017 तक रुपये 2613.21 लाख की स्वीकृत राशि भी शामिल है।
  • वित्तीय समावेशन परियोजना के तहत, बैंक ने ऑनलाइन अंतर-प्रचलित किओस्क बंकिंग समाधान के माध्यम से 5063 बैंक मित्र केंद्रों पर बैंकिंग सुविधाएँ मुहैया करायी है जिसमें माइक्रों एटीएम का इस्तेमाल किया जाता है।
  • नोटबंदी के दौरान हमारे बैंक मित्रों ने सफलतापूर्वक 39.25 लाख लेनदेनों का प्रबंध किया है जिसकी राशि रुपये 1480.74 करोड़ है।
  • ऑन अस एवं ऑफ अस लेनदेनों के लिए आधार सक्षम भुगतान प्रणाली (एईपीएस) तथा रुपे एटीएम कार्ड की स्वीकृति समस्त बैंक मित्र केंद्रों पर पास बुक प्रिंटिंग सहित अनिवार्य कर दिया गया है, इस प्रकार लेनदेन लागत, प्रिंटिंग एवं स्टेशनरी इत्यादि हेतु लागत एवं ब्रिक एवं मोर्टार की शाखाओं के निर्माण में खर्च की कटौती के साथ-ही-साथ संचालन जोखिम को कम करना जब निकासी एवं फ़ंड ट्रांसफर या तो आधार से या कार्ड आधार पर होता है।
  • नयी पहल योजनाओं के तहत, बैंक मित्र केंद्रों पर पास बुक प्रिंटिंग की सुविधा उन्नत अवस्था में है। इससे पास बुक प्रिंटिंग एवं स्टेशनरी की लागत में कमी आएगी तथा कोई पूंजी लागत नहीं होगी क्योंकि बैंक मित्र इसे खरीदेंगे।
  • बैंक मित्र लोकेशन पर पीएमजेडीवाई/सामान्य खाता ऑनलाइन खोलना ताकि शाखाओं का प्रति दिन बचत बैंक खाता खोलने में सुधार हो और जमा लागत को कम किया जाय।
  • बैंक मित्र लोकेशन पर आरडी/एफडी को खोलने का कार्य पहले ही शुरु किया जा चुका है।
  • हमारे बैंक ने समूह-अन्य राज्य की श्रेणी में पीएमजेडीवाई क्रियान्वयन में बेस्ट बैंक के रूप में पहचान मिली है और “उत्तर 24 परगना (पश्चिम बंगाल)” में सार्वजनिक प्रशासन में उत्तम के लिए प्रतिष्ठित प्रधानमंत्री पुरस्कार प्राप्त किया है।
  • हमारे बैंक ने वित्तीय वर्ष 2016 के लिए भारत के राष्ट्रीय भुगतान कॉरपोरेशन द्वारा आधार समर्थित भुगता पद्धति के लिए उत्तम कार्यनिष्पादन हेतु मध्यम आकार के बैंक श्रेणी में विजेता शील्ड प्राप्त किया है।
  • इलाहाबाद बैंक द्वारा वित्तीय समावेशन लैंडस्केप उपलब्धि पर हमारे बैंक ने भारतीय बैंक संघ द्वारा मध्यम बैंकों के बीच बेस्ट वित्तीय समावेशन पहल की श्रेणी में “बैंकिंग तकनीकी पुरस्कार 2017” के लिए रनर-अप प्राप्त किया है।