प्रतिगामी बंधक योजना

दैनिक आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु वर्तमान आय की अनुपूर्ति के लिए। अन्य वास्तविक ज़रूरतों को पूरा करने के लिए।

  • वरिष्ठ नगरिक जिनके पास स्वयं की आवासीय संपत्ति(आवास/फ्लैट) है।
  • न्यूनतम आयु 60 वर्ष पत्नी की न्यूनतम आयु 55 वर्ष आयु।
  • विवाहित दंपति केवल संयुक्त उधारकर्ता के रूप में पात्र होंगे।
  • अन्य को एकल रूप से ऋण की अनुमति दी जा सकती है।
  • संपत्ति स्वयं अर्जित होनी चाहिए। मकान समुचित रूप से अच्छीै स्थिति में होना चाहिए।
  • संपत्ति की अवशिष्ट आयु कम-से-कम 20 वर्ष होनी चाहिए। संपत्ति आंशिक या पूर्ण रूप से किराये पर नहीं दी गयी हो।

आवासीय संपत्ति का वर्तमान बाज़ार/वसूली-योग्य मूल्य, इसमें से अधिकतम रुपये 1 करोड़ मार्जिन घटाकर।

ऋण की मासिक वार्षिकी का निर्धारण:

ऋण का संवितरण मासिक पेंशन के रूप में किया जाएगा।

मार्जिन :


सभी मामलों में 40%

प्रलेखन प्रभार – शून्य

बंधक प्रभार – वहन किये गये वास्तविक प्रभार

भुगतान की विधि:

पेंशन के रूप में समान मासिक किस्तों द्वारा

या

चिकित्सा खर्च, घर की मरम्म्त या अन्य ऐसे व्यय/ अप्रत्याशित खर्च हेतु स्वीकृत सीमा का 40% तक का एक-बारगी संवितरण किया जाएगा। एकबारगी भुगतन के संवितरण के पश्चात मासिक पेंशन में समुचित रूप से कटौती की जाएगी।

समयपूर्व भुगतान दंड:

अधिग्रहण के मामले में बकाया शेष 2.25 %

आवासीय संपत्ति का मूल्यन :

संपत्ति का मूल्यन बैंक द्वारा अनुमोदित मूल्यांकनकर्ता द्वारा किया जाएगा।

उधारकर्ताओं की कर देयताएँ :

काराधान के मामले का ध्यान उधारकर्ता(ओं) द्वार स्वयं रखा जाएगा एवं बैंक इसके लिए जिम्मेदार नहीं होगा। उधारकर्ता(ओं) के संस्वीकृति पत्र में इस आशय का डिस्क्लेमर(अस्वीकरण) आवश्यक रूप से उल्लिखित किया जाना चाहिए।

  • उधारकर्ता अपने जीवन काल के दौरान अद्यतन ब्याज एवं अन्य प्रभार सहित, यदि कोई हो, ऋण राशि की चुकौती बैंक के पास बंधक रखी गयी आवास संपत्ति की बिक्री द्वारा या अन्य स्रोत से कर सकते हैं।
  • उधारकर्ता(ओं) की मृत्यु के मामले में कानूनी उत्तराधिकारी के पास प्रथम विकल्प है कि वे संपत्ति को बेचे बिना संचित ब्याज सहित ऋण का निपटान कर सकते हैं। यदि 6 माह की अवधि में कानूनी उत्तराधिकारियों द्वारा खाते का निपटान नहीं किया जाता है तो बैंक की बकाया राशि की वसूली हेतु संपत्ति को बेच दिया जाएगा और यदि कोई राशि अधिशेष हो तो उसे उधारकर्ता के कानूनी उत्तराधिकारियों/ नामिती को अदा किया जाएगा ।