सुकन्या समृद्धि खाता

    के बारे में

  • सुकन्या समृद्धि योजना भारत सरकार द्वारा समर्थित बचत योजना है जो कन्यासओं के माता-पिता पर लक्षित है। यह योजना माता-पिता को अपनी कन्याा के भविष्य की शिक्षा तथा उसके विवाह के खर्च के लिए फ़ंड बनाने के लिए प्रोत्साहित करती है।
  • पात्रता

  • यह खाता कन्या के नैसर्गिक/कानूनी अभिभावक द्वारा कन्याे के नाम पर उसके जन्म से लकर 10 साल की उम्र तक के लिए खोला जा सकता है।
  • प्रति कन्या0 केवल एक खाता खोलने की अनुमति है।
  • अभिभावक अपने प्रत्येक बच्चे के लिए अधिकतम दो खाते खोल सकते हैं (जुड़वाँ तथा ट्रिपल हेतु अपवाद अनुमत है)
  • राशि

  • प्रतिवर्ष जमा की जाने वाली न्यूनतम राशि रु. 1000/- है।
  • प्रतिवर्ष जमा की जाने वाली अधिकतम राशि रु. 1.5 लाख है।
  • यदि एक वर्ष के दौरान न्यूनतम राशि जमा नहीं की गयी तो, रु. 50 का जुर्माना लगाया जाएगा।
  • अवधि

  • जमा अवधि : खाता खोले जाने की तिथि से 14 वर्ष।
  • परिपक्वता अवधि: खाता खोले जाने की तिथि से 21 वर्ष।
  • परिपक्वता के पूर्व आहरण: 18 वर्ष की आयु पूरी करने पर उच्च शिक्षा के लिए इस खाते से अधिकतम 50% की राशि निकाली जा सकती है।
  • परिपक्वता पूर्व बंदी: यदि कन्या 18 वर्ष से अधिक की है और विवाहित है, तो सामान्य रूप से खाता बंद करने की अनुमति है।
  • आयकर लाभ

  • ‘सुकन्या समृद्धि खाता’ योजना के अंतर्गत जमा राशि आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80सी के अध्यधीन आयकर लाभ की पात्र है।

  • नोट: योजना से जुड़े किसी भी प्रकार के नवीनतम संशोधन/अनुदेशों के लिए कृपया www.nsiindia.gov.in पर जाएँ।